आयुष्मान भारत बीमा योजना 2019-Registration, Eligibility & Online Application

आयुष्मान भारत बीमा योजना ayushman beema yojana registration eligibility online application form 2019 how to apply eligibility criteria features of ayushman bharat beema yojana registration procedure PMJAY कैसे करें क्लेम कैसे चेक करें अपना नाम mera.pmjay.gov.in pmjay.gov.in

आयुष्मान भारत बीमा योजना 2019 Online Application

आयुष्मान भारत योजना या प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (PMJAY) या National Health Protection Scheme या modicare 2018 में शुरू की गई न्यू इंडिया -2022 के लिए MoHFW के आयुष्मान भारत मिशन के तहत केंद्र प्रायोजित योजना है। यह दो प्रमुख स्वास्थ्य पहलों की एक छतरी है, स्वास्थ्य और कल्याण केंद्र और राष्ट्रीय स्वास्थ्य संरक्षण योजना (NHPS)। इंदु भूषण को मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) और डॉ. दिनेश अरोड़ा को आयुष्मान भारत योजना के डिप्टी सीईओ के रूप में नियुक्त किया गया है।
प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने 2018 के अपने स्वतंत्रता दिवस के भाषण में, आयुष्मान भारत-राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा योजना (AB-NHPS) की शुरुआत की घोषणा की। 
23 सितंबर, 2018 को, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने झारखंड की राजधानी रांची में दुनिया की सबसे बड़ी सरकारी-वित्त पोषित स्वास्थ्य योजना आयुष्मान भारत का शुभारंभ किया। केंद्र की प्रमुख योजना का नाम बदलकर पीएम जन आरोग्य योजना (PMJAY) कर दिया गया है। यह योजना पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर 25 सितंबर से चालू हो गई है।
यह योजना गरीब परिवारों के और शहरी ग्रामीण कारीगरों के लिए शुरू की गयी है. इसलिए, ग्रामीण क्षेत्र में 8.03 करोड़ परिवार और शहरी क्षेत्रों में 2.33 करोड़ परिवार इन योजनाओं के तहत कवर किए जाने के हकदार होंगे, अर्थात, यह लगभग 50 करोड़ अर्थात सालाना 5 लाख लोगों को कवर करेगा।

ayushman bharat beema yojana 2019

ayushman bharat beema yojana 2019

कैसे चेक करें अपना नाम:- ने एक वेबसाइट और हेल्पलाइन न. लांच किया है जिसके जरिये कोई भी अपना नाम लाभार्थी सूची मे देख सकते है। लिस्ट मे अपना नाम चेक करने के लिए आप http://mera.pmjay.gov.in वेबसाइट पर देख सकते है या हेल्पलाइन न. 14555 पर कॉल कर सकते है.

कैसे करें क्लेम :– सरकार के पैनल में शामिल हर अस्पताल में ‘आयुष्मान मित्र हेल्प डेस्क’ होगा। वहां लाभार्थी अपनी पात्रता को डॉक्युमेंट्स के जरिए वेरिफाई कर सकेगा। इलाज के लिए किसी स्पेशल कार्ड की जरूरत नहीं पड़ेगी, सिर्फ लाभार्थी को अपनी पहचान स्थापित करनी होगी। पात्र लाभार्थी को इलाज के लिए अस्पताल को एक पैसे भी नहीं देने होंगे। इलाज पूरी तरह कैशलैश होगा।

किन बीमारियों का होगा इलाज :- इसमें इलाज के कुल 1,354 पैकेज हैं, जिसमें कैंसर सर्जरी और कीमोथेरपी, रेडिएशन थेरपी, हार्ट बाइपास सर्जरी, न्यूरो सर्जरी, रीढ़ की सर्जरी, दांतों की सर्जरी, आंखों की सर्जरी और एमआरआई और सीटी स्कैन जैसे जांच शामिल हैं।

पात्रता कैसे तय की जाएगी :- ग्रामीण और शहरी लोगों मे से जो लोग इस योजना के लाभार्थी है उनकी पात्रता इस प्रकार है.
ग्रामीण क्षेत्र की पात्रता  :- 

  1. कच्ची दीवार और कच्ची छत के सहारे मे रहने वाला परिवार
  2. परिवार मे 16 से 59 उम्र के बीच कोई भी सदस्य नहीं होना चाहिए
  3. ऐसा परिवार जिसमे केवल महिलाएं घर को संभालती हो
  4. ऐसा परिवार जिसमे कम से कम एक विकलांग सदस्य हो और कोई सक्षम सदस्य न हो
  5. SC/ST परिवार
  6. बिना घर वाले परिवार
  7. निराश्रित परिवार
  8. आदिवासी जनजाति समूह के परिवार
  9. कानूनी रूप से बंधे श्रमिक परिवार
  10. मासिक आय 10000/- से कम होनी चाहिए

शहरी क्षेत्रों के लिए पात्रता :-

  1. कूड़ा उठाने वाले
  2. भिखारी
  3. घरेलु कर्मचारी
  4. निर्माण कार्यकर्त्ता जैसे प्लम्बर श्रम पेंटर वेल्डर सुरक्षा गार्ड कुली और हेड लोड वर्कर
  5. स्वीपर स्वक्षता कार्यकर्ता माली
  6. गृह आधारित कर्मचारी कारीगर हस्तशिल्प कार्यकर्ता दरजी
  7. परिवहन कर्मचारी चालक कंडक्टर सहायक और चालक कार्ट खींचने वाला रिक्शा खींचने वाला सहायक
  8. इलेक्ट्रीशियन मैकेनिक असेम्बलर मरम्मत कार्यकर्ता
  9. वॉशर मैन चौकीदार
  10. 10000/- रूपए से कम मासिक आय हो

आयुष्मान भारत योजना के लिए जरुरी कागज:- हॉस्पिटल में भर्ती होने के लिए आपको निम्न कागजो की जरूरत होगी

  1. आय प्रमाण पत्र
  2. आधार कार्ड
  3. जाति प्रमाण पत्र
  4. राशन कार्ड
  5. आयुष्मान कार्ड
  6. ई-कार्ड

अस्पताल में भर्ती प्रक्रिया क्या है :- लाभार्थियों को अस्पताल के खर्च के लिए कोई शुल्क और प्रीमियम का भुगतान करने की आवश्यकता नहीं होगी। लाभ में पूर्व और बाद के अस्पताल में भर्ती खर्च भी शामिल हैं। प्रत्येक असम्बद्ध अस्पताल में रोगियों की सहायता के लिए एक ‘आयुष्मान मित्र’ होगा और लाभार्थियों और अस्पताल के साथ समन्वय करेगा। वे एक सहायता डेस्क चलाएंगे, पात्रता को सत्यापित करने के लिए दस्तावेजों की जांच करेंगे और योजना में नामांकन करेंगे।
साथ ही, सभी लाभार्थियों को क्यूआर कोड वाले पत्र दिए जाएंगे, जिन्हें स्कैन किया जाएगा और योजना के लाभों का लाभ उठाने के लिए पहचान के लिए और उसकी पात्रता को सत्यापित करने के लिए एक जनसांख्यिकीय प्रमाणीकरण आयोजित किया जाएगा। योजना का लाभ पूरे देश में पोर्टेबल है और इस योजना के तहत आने वाले लाभार्थी को देश भर के किसी भी सार्वजनिक /निजी अस्पतालों से कैशलेस लाभ लेने की अनुमति होगी।

लाभार्थी के लिए पात्रता मानदंड क्या है :- AB-NHPM में नामांकन प्रक्रिया नहीं है क्योंकि यह एक पात्रता-आधारित मिशन है। जिन परिवारों को सरकार द्वारा ग्रामीण और शहरी दोनों क्षेत्रों में SECC डेटाबेस का उपयोग करते हुए वंचित और व्यावसायिक मानदंडों के आधार पर पहचाना जाता है, वे AB-NHPM के हकदार हैं। पात्र परिवारों को एक समर्पित AB-NHPM परिवार पहचान संख्या आवंटित की जाएगी। केवल ऐसे परिवार जिनका नाम सूची में है, एबी-एनएचपीएम के लाभों के हकदार हैं। लाभार्थी पात्रता और अनुभव वाले अस्पतालों की सूची देखने और डाउनलोड करने के लिए साइट पर जा सकते हैं जब यह अपडेट हो जाता है।

अस्पताल की पात्रता :-इस योजना के तहत सभी सार्वजनिक अस्पतालों और निजी स्वास्थ्य देखभाल सुविधाओं के लिए सेवाओं का लाभ उठाया जा सकता है। इसके अलावा, बुनियादी समानुपाती मानदंड एक अस्पताल को कम से कम 10 बिस्तरों के सशक्तिकरण की अनुमति देता है।
लागतों को नियंत्रित करने के लिए, उपचार के लिए भुगतान पैकेज दर (सरकार द्वारा अग्रिम रूप से परिभाषित) के आधार पर किया जाएगा।

आयुष्मान भारत योजना की पूरी जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

लिस्ट मे अपना नाम चेक यहाँ क्लिक करें

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *